पढ़ें, आखिर कैसे गूगल दे रहा है ‘गज़वा-ए-हिन्द’ को बढ़ावा, सोशल मीडिया पर लोगों ने किया विरोध

Spread this

आजकल के डिजिटल जमाने में मोबाइल ऐप का चलन खूब बढ़ गया है। दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन गूगल के प्ले स्टोर में दुनिया जहान के ऐप मिलते हैं जिसे डाउनलोड कर के लोग तरह तरफ के क्रियाकलाप करते हैं। इसी गूगल प्ले के एक ऐप को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद बढ़ गया है। यह ऐप ‘गज़वा ए हिन्द’ (Ghazwa-e-Hind) नाम का है और इसमें ‘गज़वा ए हिन्द’ नाम के एक किताब को डाउनलोड करने का वकल्प दिया हुआ है।

इस ‘गज़वा ए हिन्द’ ऐप का स्क्रीन शॉट लेकर भारतीय खिलाड़ी, स्पेशल फोर्सेज़ के रिटायर्ड सैनिक और भाजपा सदस्य मेजर सुरेंद्र पूनिया ने अपना विरोध ट्वीट के माध्यम से दर्ज करवाया। इस ट्वीट में मेजर सुरेंद्र पूनिया ने एनआईए, गृह मंत्रालय और पीएम ऑफिस को टैग करते हुए उनका ध्यान दिलाया है। इसके अलावा उन्होंने अपने फॉलोवर्स से इस ऐप को गूगल प्ले पर रिपोर्ट करने के लिए भी कहा है।

https://twitter.com/MajorPoonia/status/1191701867325054978

आप में से बहुत लोग ‘गज़वा ए हिन्द’ का मतलब जानते होंगे, पर जो इसका मतलब नहीं जानते हैं उनके लिए बता दें की इसका मतलब हिन्दुस्तान में इस्लाम की सत्ता स्थापित करना और शरीयत लागू करना होता है।

मेजर सुरेंद्र पूनिया के द्वारा इस मुद्दे के उठाये जाने के बाद कई और लोगों ने भी इस मुद्दे पर अपना विरोध जताया है और आधिकारिक लोगों तक अपना विरोध दर्ज करवाया है।

https://twitter.com/SushilSancheti9/status/1191720263743762432

https://twitter.com/csindia_/status/1191713640375668736

Spread this

9 thoughts on “पढ़ें, आखिर कैसे गूगल दे रहा है ‘गज़वा-ए-हिन्द’ को बढ़ावा, सोशल मीडिया पर लोगों ने किया विरोध

  1. Hiya, I’m really glad I’ve found this info. Today bloggers publish only about gossips and web and this is really frustrating. A good site with exciting content, that is what I need. Thank you for keeping this web-site, I’ll be visiting it. Do you do newsletters? Can’t find it.

  2. I do believe all the ideas you’ve introduced to your post. They’re very convincing and will certainly work. Still, the posts are too brief for beginners. May just you please prolong them a little from subsequent time? Thank you for the post.

  3. I do accept as true with all the ideas you’ve introduced to your post. They are really convincing and will definitely work. Nonetheless, the posts are too quick for novices. May just you please lengthen them a little from next time? Thanks for the post.

Leave a Reply to Georgia Vicoy Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »