भारत में अभी नहीं आया कोरोना का पीक, जून में और बढ़ेगा मामला -एम्स डायरेक्टर

Corona's peak has not arrived in India yet, case will increase in June - AIIMS Director
Spread this

मार्च महीने से देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या धीरे धीरे बढ़ रही है। पिछले कुछ दिनों से संक्रमितों की संख्या बढ़ने की रफ़्तार और ज्यादा तेज हो गई है और कुल संक्रमितों की संख्या 50000 से भी ज्यादा हो गई है। बहरहाल अब कहा जा रहा है की वर्तमान में संक्रमितों की बढ़ने की संख्या अपने उच्च स्तर पर नहीं पहुंची है और आने वाले महीने यानी जून में यह संख्या पीक पर पहुंचेगी। ये संभावना जताई है दिल्ली स्थित AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने। उन्होंने कहा की जून के महीने में कोरोना वायरस के मामले सबसे ज्यादा होने की पूरी संभावना है।

एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने ये बातें एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने इस दौरान बताया कि “जिस तरीके से ट्रेंड दिख रहा है, कोरोना के केस जून में पीक पर होंगे। हालांकि ऐसा बिल्कुल नहीं है कि बीमारी एक बार में ही खत्म हो जाएगी। हमें कोरोना के साथ जीना होगा। धीरे-धीरे कोरोना के मामलों में कमी आएगी।” उन्होंने आगे कहा कि “लॉकडाउन के कारण फिर भी ये आंकड़े कम हैं वरना मामले बहुत ज्यादा बढ़ जाते। अस्पतालों ने लॉकडाउन में अपनी तैयारी कर ली है। डॉक्टर्स को प्रशिक्षण दिए गए हैं। पीपीई किट्स, वेंटिलेटर और जरूरी मेडिकल उपकरणों के इंतजाम हुए हैं। कोरोना की जांच बढ़ी है।”

बहरहाल अब सवाल उठता है की ऐसे अंदेशे के बीच क्या सरकार आने वाली 17 मई के बाद लॉक डाउन खत्म करेगी या इसे कुछ और हफ़्तों के लिए बढ़ाएगी? गौरतलब है की वर्तमान में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, अगर ऐसे में लॉकडाउन खुलता है तो डर इस बात की है कि संक्रमितों के बढ़ने की रफ़्तार में ना और ज्यादा वृद्धि हो जाए। इसीलिए अगर सरकार लॉकडाउन को जून तक बढ़ा दे तो इसमें कोई हैरानी की बात नहीं होगी।

Spread this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »