ट्रेन व प्लेन के सफर को मिली हरी झंडी, पर यात्रा से पहले समझ लें इसके नियम

Train and plane travel got green signal, but before traveling, understand its rules
Spread this

दो महीने से ज्यादा का वक़्त बीत गया है देश में लॉकडाउन लगे। इस दौरान यातायात के सभी साधन बंद रहे। हालांकि अब ठहरा हुआ देश धीरे धीरे रफ़्तार पकड़ने को प्रयासरत है। एक तरफ जहां रेलवे ने 1 जून से 100 जोड़ी यात्री ट्रेनों की बुकिंग शुरू कर दी है, वहीं दूसरी तरफ सीमित घरेलू उड़ानें शुरू करने का रास्ता भी साफ हो गया है। सरकार ने उड़ानों को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

रफ्तार पकड़ने लगी है। 18 मई से शुरू हुए लॉकडाउन के चौथे चरण में कंटेनमेंट जोन के अलावा लगभग सभी जगहों पर आर्थिक गतिविधियों को मिली इजाजत के बाद अब यातायात के पहिए भी रफ्तार पकड़ने को तैयार हैं। एक ओर जहां रेलवे ने पहली जून से 100 जोड़ी यात्री ट्रेनों की बुकिंग शुरू कर दी है, तो दूसरी ओर सीमित घरेलू उड़ानें शुरू करने का रास्ता भी साफ हो गया है। सरकार ने उड़ानों को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

बता दें की 1 जून से शुरू होने वाली नियमित ट्रेनों के लिए गुरुवार सुबह 10 बजे से ऑनलाइन बुकिंग शुरू हुई और महज चार घंटे में ही 5.51 लाख टिकट बुक हो गए। थे। टिकट बुकिंग में लोग जाने के साथ साथ वापसी की टिकटों को भी बुक कर रहे हैं। ये सारी बुकिंग आइआरसीटीसी की वेबसाइट और एप से ही रही है। हालांकि आज से 1.75 लाख सामुदायिक सेवा केंद्रों से भी बुकिंग होने लगेगी और एक-दो दिन में कुछ स्टेशनों पर भी टिकट खिड़की खोलने की तैयारी है। बुकिंग के लिए खुली ट्रेनों में दुरंतो और जनशताब्दी जैसी ट्रेनें शामिल है।

बहरहाल घरेलू उड़ानों के शुरुआत की बात करें तो 25 मई से लगभग एक तिहाई घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू करने के लिए विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। इन दिशानिर्देशों में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बुजुर्गो, गर्भवती महिलाओं और बीमार लोगों को हवाई यात्रा से बचने की सलाह दी है।

विमान सेवा का इस्तेमाल करने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और 14 साल से ज्यादा उम्र के सभी यात्रियों के फोन पर आरोग्य सेतु एप जरूरी होगा। विमान में सवार होते समय भी यात्रियों को क्रमवार तरीके से भेजा जाएगा, ताकि कोई एक-दूसरे से न टकराए।

Spread this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »